Online Puja & Pandit Booking
+91-9111512346

Shiv Abhishek

Booking Starts:101.00

  3.5 Ratings & 1 Reviews

भोलेनाथ सबसे सरल उपासना से भी प्रसन्न होते हैं लेकिन रुद्राभिषेक उन्हें सबसे ज्यादा प्रिय है.

 |  List of Puja Samagri

Puja Duration : 5 Hours

Puja will be perfom in Bhopal (Change Location)

भोलेनाथ सबसे सरल उपासना से भी प्रसन्न होते हैं लेकिन भोलेनाथ सबसे सरल उपासना से भी प्रसन्न होते हैं लेकिन रुद्राभिषेक उन्हें सबसे ज्यादा प्रिय है. कहते हैं कि रुद्राभिषेक से शिव जी को प्रसन्न करके आप असंभव को भी संभव करने की शक्ति पा सकते हैं तो आप भी सही समय पर रुद्राभिषेक करिए और शिव कृपा के भागी बनिए...
- रुद्र भगवान शिव का ही प्रचंड रूप हैं.
- शिव जी की कृपा से सारे ग्रह बाधाओं और सारी समस्याओं का नाश होता है.
-शिवलिंग पर मंत्रों के साथ विशेष चीजें अर्पित करना ही रुद्राभिषेक कहा जाता है.
- रुद्राभिषेक में शुक्ल यजुर्वेद के रुद्राष्टाध्यायी के मंत्रों का पाठ करते हैं.
- सावन में रुद्राभिषेक करना ज्यादा शुभ होता है.
- रुद्राभिषेक करने से मनोकामनाएं जल्दी पूरी होती हैं.
- रुद्राभिषेक कोई भी कष्ट या ग्रहों की पीड़ा दूर करने का सबसे उत्तम उपाय है.


 कहते हैं कि रुद्राभिषेक से शिव जी को प्रसन्न करके आप असंभव को भी संभव करने की शक्ति पा सकते हैं तो आप भी सही समय पर रुद्राभिषेक करिए और शिव कृपा के भागी बनिए...
- रुद्र भगवान शिव का ही प्रचंड रूप हैं.
- शिव जी की कृपा से सारे ग्रह बाधाओं और सारी समस्याओं का नाश होता है.
-शिवलिंग पर मंत्रों के साथ विशेष चीजें अर्पित करना ही रुद्राभिषेक कहा जाता है.
- रुद्राभिषेक में शुक्ल यजुर्वेद के रुद्राष्टाध्यायी के मंत्रों का पाठ करते हैं.
- सावन में रुद्राभिषेक करना ज्यादा शुभ होता है.
- रुद्राभिषेक करने से मनोकामनाएं जल्दी पूरी होती हैं.
- रुद्राभिषेक कोई भी कष्ट या ग्रहों की भोलेनाथ सबसे सरल उपासना से भी प्रसन्न होते हैं लेकिन रुद्राभिषेक उन्हें सबसे ज्यादा प्रिय है. कहते हैं कि रुद्राभिषेक से शिव जी को प्रसन्न करके आप असंभव को भी संभव करने की शक्ति पा सकते हैं तो आप भी सही समय पर रुद्राभिषेक करिए और शिव कृपा के भागी बनिए...


- रुद्र भगवान शिव का ही प्रचंड रूप हैं.
- शिव जी की कृपा से सारे ग्रह बाधाओं और सारी समस्याओं का नाश होता है.
-शिवलिंग पर मंत्रों के साथ विशेष चीजें अर्पित करना ही रुद्राभिषेक कहा जाता है.
- रुद्राभिषेक में शुक्ल यजुर्वेद के रुद्राष्टाध्यायी के मंत्रों का पाठ करते हैं.
- सावन में रुद्राभिषेक करना ज्यादा शुभ होता है.
- रुद्राभिषेक करने से मनोकामनाएं जल्दी पूरी होती हैं.
- रुद्राभिषेक कोई भी कष्ट या ग्रहों की पीड़ा दूर करने का सबसे उत्तम उपाय है.

 

रूद्र अभिषेक में प्रयुक्त होने वाले प्रशस्त द्रव्य -

  1. अपने कल्याण के लिए भगवन सदा शिव की प्रसन्ता के निमित निष्काम भाव से यजन करना चाहिए इसका अनंत फल हैं
  2. शास्त्रों में विविध कामनाओ की पूर्ति के लिए रूद्र अभिषेक के निमित्त अनेक द्रव्यों का निर्देश हुआ है
  3. जल से रूद्र अभिषेक करने पर बृष्टि होती है व्यधि की शांति के लिए कुशोदक से अभिषेक करना चाहिए पसु प्राप्ति के लिए दही लक्ष्मी प्राप्ति के लिए गन्ने के रस धन प्राप्ति के लिए शहद से तथा घी एवं मोक्षा प्राप्ति के लिए तीर्थ जल से अभिषेक करना चाहिए पुत्र की इच्छा करने वाला दूध द्वारा अभिषेक करने पर पुत्र प्राप्ति करता है बुद्धि प्राप्ति के लिए शक्कर मिले दूध से  अभिषेक करना चाहिए

 

 

 

Puja Samagri

Puja Samagri
Ghar Samagri
Other Samagri